Hindu muslim unity - News time 4u

Latest

Recent Posts

Friday, December 20, 2019

Hindu muslim unity



Hindu muslim unity




1857 की क्रांति में हिंदू और मुसलमानों में एक साथ मिलकर भाग लिया क्रांति का मसिवादा तैयार करने से रेल क्रांति में क्रियान्वयन तक दोनों संप्रदायों के लोगों ने एक दूसरे का  पूरा साथ दिया स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान अंग्रेजों के विरुद्ध में हिंदू और मुसलमानों के बीच ऐसी एकता फिर कभी नहीं दिखाई पड़े इसका कारण यह था कि अंग्रेजों ने पूर्ण डालो और राज करो की नीति को हिंदुओं और मुसलमानों को तोड़ने में लागू नहीं किया था विद्रोहियों एवं सिपाहियों हिंदू एवं मुसलमान दोनों ने एक दूसरे की भावनाओं का आदर किया एक विशेष क्षेत्र में विद्रोह के सफल होने पर वहां पालतू पशुओं को मारने पर प्रतिबंध लगा दिया नेतृत्व प्रदान करने वाले वालों में हिंदू एवं मुसलमान दोनों शामिल थे नाना साहब ने अजीमुल्ला एक मुसलमान एक एवं दक्ष राजनीतिक प्रचारक को अपने सहायक बनाया हुआ था जबकि रानी लक्ष्मीबाई को अफगान सैनिकों का तो समर्थन प्राप्त था
इस प्रकार 1857 के विद्रोह में प्रकट किया कि भारत की राजनीति और लोग 1858 से पहले संप्रदाय या पंथवादी नहीं  थे।



1. 1857 की घटना सिर्फ गाय की चर्बी से उत्पन्न सैनिक उत्पाद से थी।

सर जॉन लॉरेंस


2. वर्ष 57 का विद्रोह सिपाही विद्रोह मात्र था।

एडवर्ड ताप्सान तथा जी. टी गेरीट


3.1857 का विद्रोह स्वतंत्रता संघर्ष नहीं धार्मिक योद्धा था।

विलियम हरबर्ट रेसिल

4. 1857 के विद्रोह में राष्ट्रीयता की भावना का आभाव था और यहां सैनिक विद्रोह से बढ़कर वह कुछ भी नहीं था।

आर. सी मजमुदार


5. 1857 का विद्रोह केवल सैनिक विद्रोह नहीं था यहां भारत वासियों का अंग्रेजों के विरुद्ध धार्मिक सैनिक शक्तियों के साथ राष्ट्रीय अस्मिता की रक्षा के लिए लड़ा गया युद्ध था।

जस्टिस मैंकाकी 

6. 1857 का विद्रोह सर्व धर्म और राजस्व के लिए लड़ा गया राष्ट्रीय संघर्ष का था।

विनायक दामोदर सावरकर

7. 1857 ई. की क्रांति भारत की पवित्र भूमि से विदेशी शासन को उखाड़ फेंकने का प्रयास थी।

डॉ सैयद अतहर अब्बास  रिजवी


8. 1857 का विद्रोह विदेशी शासन से राष्ट्र को मुक्त करने का देशभक्ति पूर्ण प्रयास था।

बिपिन चंद्र




9.1857 का विद्रोह सैनिक विद्रोह ना होकर नागरिक विद्रोह था।

जान ब्रूस नॉटर्न

10. 1857 के विद्रोह का आरंभिक स्वरूप सैनिक विद्रोह का ही था किंतु बाद में इसमें राजनीति रूप ग्रहण कर लिया।

एस. एस सेन

No comments:

Post a Comment